Audio cuts

  1. Vividh Bharatii

    05/06/2022

    21:03

    मोह माया के चक्रव्यूह में, बैठा ठगा-ठगाया

  2. Vividh Bharatii

    03/29/2022

    20:29

    ना जुदा होंगे हम, साँचा नाम तेरा

  3. Vividh Bharatii

    03/23/2022

    20:44

    दुर्बल को न सताइये जाकी मोटी हाय

  4. Vividh Bharatii

    01/30/2022

    20:57

    जहाँ दया तहां धर्म है, जहाँ लोभ तहँ पाप

  5. Vividh Bharatii

    01/25/2022

    20:38

    करता था तो क्यों किया, अब कर के क्यों पछताय, बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से खाय